Top 10 music artist in Indian Bhojpuri Industry: भोजपुरी के टाॅप आर्टिस्ट

200
Top 10 music artist in Indian Bhojpuri Industry: भोजपुरी के टाॅप आर्टिस्ट
Top 10 music artist in Indian Bhojpuri Industry: भोजपुरी के टाॅप आर्टिस्ट

Top 10 music artist in Indian Bhojpuri Industry: भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री आधुनिक फिल्म और म्यूजिक के लिए  लिहाज से अहम मुकाम हासिल किया है। भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में अब ऐसे दर्जनों कलाकार अपना शीर्ष स्थान बना चुके हैं जिन्हें जनता देखना व सुनना चाहती है।

कई भोजपुरी गायक अपनी मधुर आवाज और अविश्वसनीय क्षमता के कारण पूरे देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी अपना परचम लहरा रहे हैं। यहां आपको टॉप टेन भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री के कलाकारों के बारे में बताने जा रहे हैं-

मनोज तिवारी

मनोज तिवारी भोजपुरी फिल्म उद्योग के पुराने और मझे हुए खिलाड़ी हैं। मनोज तिवारी कि सैकड़ों की तादाद में म्यूजिक एल्बम्स और दर्जनों की तादाद में लॉन्च हुई फिल्में यह बताती है कि उनकी कार्यक्षमता की बदौलत भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री को अच्छी पहचान मिली है। उनकी मधुर आवाज के कारण ही उनको ‘मृदुल’ का उपनाम भी प्रसिद्ध है। 

वह फिल्म “ससुरा बड़ा पैसा वाला” में काम कर लोगों में खूब पसंद किये गये। भोजपुरी सिनेमा के लोकप्रिय अभिनेता-गायकों में से एक मनोज तिवारी ‘मृदुल’ अच्छे संगीत निर्देशक और टेलीविजन एंकर भी हैं।

मनोज तिवारी मूलत: बिहार के रहने वाले हैं। वर्तमान में वो राजनीतिक रूप से भारतीय जनता पार्टी से ताल्लुक रखते हैं। मनोज तिवारी पहले समाजवादी पार्टी से जुड़े थे लेकिन 2014 के चुनाव से कुछ महीने पहले बीजेपी में शामिल हो गए।  मनोज तिवारी ने साल 2009 राष्ट्रीय चुनाव में समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार के तौर पर राजनीति में कदम रखा। 

मनोज तिवारी जब दिल्ली में बीजेपी संगठन के प्रमुख थे तब पार्टी ने 2017 में स्थानीय चुनावों में रिकॉर्ड जीत दर्ज की थी। उन्होंने श्री कमलाकर चौबे आदर्श सेवा विद्यालय इंटरमीडिएट कॉलेज, वाराणसी से अपनी स्कूली शिक्षा प्राप्त की है। उन्होंने बीएचयू (बनारस हिंदू विश्वविद्यालय), वाराणसी से स्नातक स्तर की पढ़ाई की है। M.P.Ed (शारीरिक शिक्षा के मास्टर) में डिग्री हासिल करने के बाद राजनीति में कदम रखने से पहले वह भोजपुरी सिनेमा के जानेमाने अभिनेता के रूप में लोकप्रिय हैं।

दिनेश लाल यादव “निरहुआ”

दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ, देश के ऐसे कलाकार हैं जिन्हें भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में कम समय में बड़ा महत्व मिला है। दिनेश लाल यादव निरहुआ भोजपुरी फिल्म जगत के कलाकारों में अहम मुकाम बनाने वाले कलाकार हैं। वह गायक भी हैं, अभिनेता भी हैं, संगीत निर्माता भी हैं और अपने गानों को खुद लिखने वाले भी हैं।

दर्जनों फिल्में निकालने के बाद दिनेश लाल यादव लोगों के बीच में खूब पसंद किए जा रहे हैं, उनकी अब तक की सबसे सुपरहिट फिल्म रही थी निरहुआ रिक्शावाला।

इंदु सोनाली

भोजपुरी फिल्म उद्योग में अब तक की सर्वश्रेष्ठ महिला गायिका कोई और नहीं बल्कि इंदु सोनाली हैं, जिन्होंने 300 से अधिक मोशन पिक्चर्स में अपनी सुरीली आवाज दी है और लगभग 50 हिट संगीत संग्रह किए हैं।  वह पारंपरिक, जैज़ और समाज संगीत सहित कई तरह के गीत गा सकती है।

भरत शर्मा व्यास

भारत शर्मा व्यास एक प्रसिद्ध भोजपुरी गायक हैं, जिन्हें भोजपुरी लोक गीत सम्राट की उपाधि से विभूषित किया गया है, जिसमें उनकी रचनाएँ बुनियादी और व्यावसायिक दोनों तरह की हैं। उनका लगभग पाँच दशकों का प्रभावी पेशा रहा है, जिससे उन्हें क्षेत्र में एक अनुभवी बनाया गया।

पवन सिंह

पवन सिंह की गायन कला लोगों को खूब पसंद आती है। भोजपुरी फिल्मों में भी उन्होंने खूब बढ़िया अभिनय किया है। “लॉलीपॉप लागेलु” 2008 में एक चार्टबस्टर गीत बना था जिससे पवन सिंह को नई पहचान मिली। उन्होंने इसी तरह “ओढनिया वाली” और “कांच कसैली” सहित कई हिट संग्रह दिए हैं।

उदित नारायण

उदित नरायण ऐसे कलाकार हैं जिन्होंने बॉलीवुड में प्रसिद्धि पाने के साथ-साथ भोजपुरी फिल्म उद्योग में भी धूम मचाया है, मीठी और कर्णप्रिय आवाजों के जरिये उदित नरायण जनता के दिलों पर राज करते हैं। 

खेसारी लाल यादव

खेसारी लाल यादव एक और असाधारण भोजपुरी गायक हैं, कठिन राहों पर चलकर विपरीत परिस्थितियों से लड़ते हुये आगे निकल जाना कोई खेसारीलाल यादव से सीख सकता है।

कल्पना पटोवरी

कल्पना पोटवेरी लोकगायिका के साथ-साथ भोजपुरी की ऐसी कड़ी हैं जिनके बिना भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री अधूरी है। कल्पना के गाने सामूहिक तौर पर सुनने में अच्छे लगते हैं और पारिवारिक पृष्ठभूमि पर उन्होंने सैकड़ों गानों को अपनी आवाज देकर दर्शकों के दिलों में जगह बनाई है।

श्रेया घोषाल

बॉलीवुड गायिका श्रेया घोषाल ने “कहो न कहलें पइले” और “पंडितजी बताई न बियाह कब होई” जैसे कुछ भोजपुरी ट्रेंडिंग फिल्मों में गायन कर खुद को भोजपुरी में भी स्थापित कर लिया है। आज भी उनकी डिमांड भोजपुरी फिल्म निर्माताओं में गायिका के तौर पर होती है।

अरविंद अकेला उर्फ कल्लू

यह युवा अपने स्टाइल और काम करने की कला की बदौलत कम वक्त में ज्यादा शोहरत कमाने में सफल हो सका है। कल्लू के गानों पर युवाओं का झूम जाना यह बताता है कि उनकी शैली युवाओं के दिलों में राज करती है। भोजपुरी के उभरते हुये सितारों में गणना होनी की बात आये तो कल्लू का नाम सबसे उपर रखा जायेगा।